kala jadu ka ilaj quran se

kala jadu ka ilaj quran se

kala jadu ka ilaj quran se

kala jadu ka ilaj quran se, “आज की दुनिया में लोग काला जादू पर बहुत कम यकीन करते है. क्योकि काला जादू का प्रयोग प्राचीन समय में बहुत होता था. लेकिन कुछ ऐसे भी लोग है. जो किसी से बदला लेने के लिए काला जादू करते है. ताकि उसको बर्बाद किया जा सके. काला जादू का अधितर इस्तेमाल किसी को बर्बाद और खत्म करने लिए किया जाता है. जब इंसान काला जादू के प्रभाव से बुरी तरह घिर जाता है, तब वो kala jadu ka ilaj quran se करने की सोचता है. कुरान ए पाक में काला जादू को खत्म करने की बहुत ताक़त है.

वैसे तो काला जादू का इस्तेमाल बुरे काम के लिए जाता है. लेकिन इंसान चाहे तो इसका अच्छे काम में भी इस्तेमल कर सकता है. काला जादू का इलाज क़ुरान से ही क्यों किया जाता है? इसलिए प्रमुख वजह यह है, की कुरान में ऐसी आयते होती है, जो किसी भी तरह के जादू को खत्म करने में सक्षम होती है. आजकल जादू टोना करना आम बात हो चुकी है. कोई भी किसी के साथ शत्रुता में किसी के भी ऊपर काला जादू करवा देता है. जिसका दुस्प्रभाव इंसान के दिल और दिमाग पर पड़ता है. और इंसान पागल और बर्बाद हो जाता है. अगर आप काला जादू से बचना चाहते है, तो काला जादू का इलाज क़ुरान से करना बहुत जरुरी है.

Kala jadu ka tor quran se

इस्लाम में काला जादू का तोड़ और इसका इलाज क़ुरान से किया जाता है. क्योंकि कुरान में ऐसी दुआ दी गई, जो काला जादू को आपके पास तक आने नहीं देगी. काला जादू हमेशा आपके नजदीकी लोग ही करवाता है. जिन लोगो को आप बुरे लगते है, और जो आपसे बदला लेने की चाहत रखता हो. कुछ लोग यह सोचते है, काला जादू का तोड़ सिर्फ मौलवी जी ही कर सकते है. लेकिन आप खुद कुछ क़ुरानिक दुआ पढ़ कर भी काला जादू का असर खत्म कर सकते है.

काला जादू का खौफ लोगों के दिल में इतना बैठा हुआ है. शरीर में कही दर्द होता है, तो वो सोचता है की किसी ने उसके ऊपर काला जादू करवा दिया है. दुनिया में बहुत सारे ऐसे लोग भी है. जिनको किसी तरह का जादू नही होता. लेकिन किसी ने बता दिया की तुम पर काला जादू है, तो वो लोगो की सुनी सुनाई बात को सच मान कर यकीन कर लेता है. काला जादू का तोड़ करने के लिए अल्लाह ने लोगो को क़ुरान अदा की है.

जादू इंसान हो या घर दोनों पर किया जा सकता है. अम्लियत की दुनिया में काला जादू का ज़िक्र किया गया है. अक्सर लोग अपने दुख और दर्द को दूर करने के लिए दुसरो पर काला जादू करवाते है. अगर आपने काला जादू का तोड़ क़ुरान से कर दिया तो, दुनिया का कोई भी जादू आप पर असर नहीं करेगा. और अगर आप पर किसी भी तरह के पहले के असरात होने तो वो भी ज़ाहिर हो जायेगे.

Quran se jadu ka ilaj

क्या आपको महसूस होता है, की किसी दुश्मन ने आप पर कोई जादू करवाया है. आप पूरा दिन यह सोचने में गुज़ार देते है, की किसने जादु करवाया है? और इसका इलाज किस तरह से किया जाये? आज आपके सभी परेशानी और क़ुरान से जादू का इलाज हम लेकर आये है. आपके ऊपर जादू को कितने भी साल हो चुके हो. जादू ने आपको और आपके पुरे घरवालो को बर्बाद करके रख दिया हो. आज हम इसका इलाज क़ुरान से करेगे.

काला जादू की पहचान बहुत कम लोग कर पाते है. क्योंकि बहुत सारे लोगो को जादू के बारे में जानकारी नहीं होती है. और जिनको पता चल जाता है, की उनके ऊपर जादू हो गया है, तो वो जल्द से जल्द क़ुरान की आयत से जादु का इलाज करवा लेते है. अगर समय रहते जादू को हटाया नहीं जाता है, तो वो अपना इंसान को अपने काबू में करने लग जाती है.

दुनिया का कितना भी बड़ा जादूगर क्यों न हो. लेकिन अल्लाह की जात से वो हमेशा नीचे ही रहता है. किसी भी तरह के जादू का तोड़ करने के लिए जादू का सहारा नहीं लेना चाहिए. क्योंकि एक बर्तन गन्दा है, तो उसको कीचड़ और गंदे पानी से धोने से उसको साफ़ नहीं किया जा सकता है. इसलिए आप हमेशा बुराई को अच्छाई के साथ दूर करे. क्योकि अच्छाईयां बुरियों को खत्म कर देती है.

Quran ki ayat se kala jadu ka ilaj

क़ुरान की आयत से काला जादू से महफूज़ रहा जा सकता है. शैतान और जादू का साथ हमेशा बना रहता है. क़ुरान की आयत से काला जादू का इलाज सम्बभ है. क़ुरान की आयत से आपके दिल में जो काला जादू का डर है, वो हमेशा के लिए निकाला जा सकता है. अगर कोई शैतानी वार चल जाता है, तो आपको अल्लाह से मदद लेनी चाहिए. इंशा अल्लाह काला जादू के ज़रिये से लगाई गई आग भूझ जाएगी. क़ुरान की आयत आपके ऊपर सुरक्षा कवच की तरह काम करती है.

  • अगर आपको लगता है, की आप पर काला जादू हुआ है, तो आप अपने पैरो की मिट्टी उठा ले.
  • मिट्टी को नाक से सुगे. उसकी सुगंद को अपने अच्छे तरफ से याद रखे.
  • उसके बाद अवल में 7 बार सबसे छोटा दुरूद शरीफ यानि सल्लल्लाहो तल्हा अलेही वसल्लम पढ़े.
  • उसके बाद कुरान की आयत यह “आयत या हय्यू या कय्यूमू या बदीऊस्समाबाति बलद” को 7 बार पढ़े.
  • इतना करने के बाद अपने मिट्टी पर हलकी से फूँक मारना है. 
  • और मिटी को अपने नाक से फिर से सुगना है. अगर मिट्टी की खुशबू में थोड़ा सा भी फर्क आता है, तो आप काला जादू का इलाज हो गया है.

जादू टोने के नाम पर आमिल और जाली मौलवी लोगो को लुटते है. हालांकि काला जादू के असर को खुद भी खत्म कर सकते है. काला जादू एक तरह से बीमारी की तरह ही है. जब इसका असर होता है, तो इंसान का शरीर कमज़ोर होने लग जाता है. उसको कही तरह के रोग लग जाते है. बुरे सपने आने शुरू हो जाते है. सपने में अपने आप को ऊंचाई से गिरता हुआ देखना. यह सब काला जादू की निशानियां होती है. जिनका इलाज करना बहुत जरुरी होता है.

Har tarah ke jadu ka ilaj quran se

क्या आपको किसी जादू ने बुरी तरह से परेशान करके रखा है? अपने जादू की काट करने के लिए बहुत सारे अमल और तावीज़ अपनाकर देख लिए है. लेकिन जादू का असर कम होने का नाम नहीं ले रहा है. अल्लाह के कलामत के ज़रिये से जादू का इलाज और काला जादू को खत्म करने के लिए झूठे और बातिल लोगो का सहारा न लेना इसी का नाम अपना इमान बचना है. क़ुरान हर तरह के जादू से बचने का एक मजबूत जरिया है.

जब किसी बीमारी की सही दवा मिल जाती है, तो अल्लाह तल्लाह की मर्ज़ी से उस बीमारी से राहत मिल जाती है. अल्लाह तल्लाह ने कोई बीमारी नही उतरी मगर उसकी दवा जरुरी उतारी है. जिस इंसान ने उसका पता लगा लिया तो उसको हर तरह के जादू से बचने का तरीका पता चल जायेगा.

जब कोई जादूगर किसी पर जादू करता है, तो आप यह समझे कि जादूगर ने सारी गंदगी उठा कर आपकी तरफ फेंक दी है. जब इंसान को अपने ऊपर जादू होने का पता चलता है, तब बहुत देर हो जाती है. उस वक़्त इंसान पर जादू का असर सातवें आसमान पर होता है. जिसका इलाज सिर्फ कुरान ए पाक से किया जा सकता है. अगर आप किसी जादू की वजह से परेशान हो गये हो. और अपने अल्लाह को याद किया तो अल्लाह आपकी जरूर सहायता करेंगे.

Quran se jadu ke asar ko khatam karna

जब कोई किसी पर जादू करता है, तो वो अपनी पूरी ज़िन्दगी को दाव पर लगा लेता है. जादू के असर को खत्म करने का तरीका हम आपको बताएंगे. क़ुरान की एक दुआ से जादूगर और जादूगर के पास जाकर जादू करवाने वाले सभी अल्लाह के हुकम से रफ़ा दफा हो जायेगे.

काला जादू की तरह नज़र इ बाद भी आपको काफी नुकसान पहुंचा सकता है. इसलिए उसको हलके में नहीं लेना चाहिए. क्योकि नज़र इ बद एक ऐसी बुरी शक्ति है, जो ऊँट को हांड़ी में और इंसान को कब्र में पूछा देती है. इसलिए आपको इन सभी बुरी शक्तियों से हमेशा बच कर रहना चाहिए.

जब जादू का असर शुरू होने लगता है, तो इंसान घबरा जाता है. उसको पता नहीं होता है कि उसके साथ हो क्या रहा है? अपने ऊपर से काला जादू का तोड़ करवाने के लिए वो खुद कुछ दुआ और वज़ीफ़ा का सहारा लेता है. लेकिन जब परेशानी ज्यादा बढ़नी शुरू हो जाती है, तो आमिल या किसी मौलवी जी जादू का तोड़ करवाता है. अगर आप चाहते है कि कोई आपके ऊपर से काला जादू के असर को हटा दे, तो आपको बिना देरी किये हमसे संपर्क करना है.

 

 

Leave a Reply